Home गजब ढाई लाख की नौकरी छोड चुना व्यापार, जानिए अब कितना कमाते हैं...

ढाई लाख की नौकरी छोड चुना व्यापार, जानिए अब कितना कमाते हैं भिलाई के प्रशांत

भिलाई . हवाई जहाज में चलना, फाइव स्टार होटल में रुकना। मल्टीनेशनल कंपनी में लाखों रुपए महीने की नौकरी। यानी मज्जा नी लाइफ। इतनी शानदार लाइफ स्टाइल को छोड़ अपने ख्वाब पूरे करने का रिस्क लेने वाले कम ही होते हैं। खुद के साथ दूसरे के लिए भी कुछ बेहतर करने का जुनून उन्हें कामयाबी की सीढ़ी चढ़ाता है। कामयाबी की एक ऐसी ही मिसाल अपने भिलाई में हैं, जिन्होंने एमएनसी में ढाई लाख रुपए महीने की नौकरी को छोड़ खुद का व्यावसाए कराने की ठानी और कामयाब भी हुए। हम बात कर रहे हैं Aan honda आन होंडा के फाउंडर प्रशांत केशरवानी की। एमबीए पूरा करने के बाद नौकरी तो चुन ली, लेकिन आंत्रप्रेन्योर बनने का सपना दिल में दबा बैठा था। करीब ८ साल नौकरी कर जो अनुभव सीखा था, उसी को खुद के बिजनेस में अप्लाई किया। प्रशांत पहले शख्स हैं, जिन्होंने 2013 में दुर्ग संभाग में सबसे पहली रॉयल इनफील्ड की डीलरशिप चालू की। अपने अनुभव से व्यापार को चारचांद लगाए। फिर ये काफिला कभी नहीं रुका। 2019 में आन होंडा Aan honda का पहला शोरूम खोला। दो साल में ही ट्विनसिटी को तीन बाइक शोरूम दे दिए।

Read more – काठियावाड़ी में बंद हुए संजय और गंगू, दोनों को बाहर जाने की इजाजत नहीं

परिवार का फस्र्ट जनरेशन आंत्रप्रेन्योर

प्रशांत ने बताया कि उनके पिता आरके केशरवानी बिजली विभाग में अधिकारी थे। सभी भाई भी नौकरी ही किया करते थे। व्यापार करने की बात जब परिवार को बताई तो पहले सब ने हैरानी पूवर्क देखा, लेकिन फिर उन्हें बिजनेस का बेहतरीन आइडिया बताया तो सभी मान गए। प्रशांत इस परिवार के फस्र्ट जनरेशन आंत्रप्रेन्योर हैं जिन्होंने नौकरी से हटकर कुछ नया करने की सोची। जिस समय आन होंडा की शुरुआत हुई, उस वक्त मार्केट में कॉम्पीटिशन हाई था, लेकिन अपनी स्ट्रेटजी के बूते ग्राहकों के बीच पहचान बना ली।

150 लोगों को दिया रोजगार

नेक नीयत से हुई शुरुआत हमेशा अच्छा सिला ही देती है। प्रशांत ने भी इस बात को माना है। उनका कहना है कि व्यापार शुरू होने के वक्त ४-६ इम्पलॉय थे। पुराने इम्पलॉई आज भी साथ जुड़े हुए हैं। चुनिंदा स्टाफ के साथ शुरू हुआ काफिला आज परवान चढ़ रहा है। आन होंडा समेत अन्य यूनिट्स में करीब 150 लोग को रोजगार दिया है। आन होंडा Aan honda आज अपने दो साल पूरे करने जा रहा है। अपनी दूसरी वर्षगांठ के मौके पर ग्राहक और आन का पूरा स्टाफ सपनों को सच करने के इस सफर का साक्षी बनेंगे।

बेहद जरूरी है ज्वाइंट फैमिली

प्रशांत ने बताया कि ज्वाइंट फैमिली में रहना खुशकिस्मती होती है। ज्वाइंट फैमिली का हर व्यक्ति आपको मोटिवेट करता है। ऐसा ही मेरे साथ भी हुआ। नौकरी छोडऩे की बात जिस वक्त घर वालों को बताई थी, तब भी सभी ने मुझे इसके लिए मना नहीं किया था, बल्कि तुम आगे बढ़ो, हम साथ हैं कि बात समझाई थी। आज भी हम सभी भाई ज्वाइंट फैमिली में ही रहते हैं।

शुरू किया देश का पहला बिगविंग शोरूम

अपने भिलाई में सिर्फ इकोनॉमिक बजट बाइक ही नहीं बिकती है, बल्कि प्रीमियम सेगमेंट के दोपहिया भी आसानी से मिल जाते हैं। आपको जानकर खुशी होगी कि प्रशांत केशरवानी ही है, जिन्होंने देश का पहला होंडा बिगविंग शोरूम भिलाई में खोला। बता दें कि बिगविंग होंडा का प्रीमियम बाइक शोरूम है, जिसमें यंगस्टर्स की एडवेंचर्स थीम बेस्ट बाइक्स मिलती हैं।

RELATED ARTICLES

Girls college durg की इन बेटियों से सीखिए हार न मानने का जुनून

भिलाई . संगीत तेज आवाज में बजे या धीमे, इनके लिए मायने नहीं रखता। girls college durg हाथों का डायरेक्शन और आंखों का इशारा...
- Advertisment -

Most Popular

तहसील साहू संघ द्वारा युवक – युवती परिचय एवं स्नेह सम्मेलन का आयोजन कल

भिलाई. तहसील साहू संघ - रिसाली भिलाई (छ.ग.) द्वारा 5 दिसंबर को युवक-युवती परिचय एवं स्नेह का आयोजन रिसाली दशहरा मैदान रिसाली में आयोजित...

एमएचआरडी इनोवेशन रेटिंग में रुंगटा आर-1 ग्रुप को मिले 4 स्टार, प्रदेश के 34 तकनीकी कॉलेजों के बीच सिर्फ दो संस्थानों को मिले सितारे

भिलाई . केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय (एमएचआरडी) ने देशभर के तकनीकी शिक्षा संस्थानों और विश्वविद्यालयों की इनोवेशन परफॉर्मेंस रेटिंग जारी कर दी है। छत्तीसगढ़ में संतोष...

सबसे बड़ी खबर-मंत्री ताम्रध्वज साहू के परिवार से कोई नही ,रिसाली निगम चुनाव में कार्यकर्ताओं को ही टिकट

आम जनमानस में ये खबर चल रही थी कि मंत्री के परिवार के ही लोगो को महापौर बनाया जाएगा मगर इस चर्चा पर...

Recent Comments